• एनएचडीसी निगम मुख्यालय का द्श्य

  • एनएचडीसी निगम मुख्यालय का पृश्य भाग का दृश्य

  • 1000 मेगावाट इंदिरासागर परियोजना – बांध डाउनस्ट्रीम

  • 1000 मेगावाट इंदिरासागर परियोजना – बांध अपस्ट्रीम

  • 520 मेगावाट ओंकारेश्वर परियोजना – बांध डाउनस्ट्रीम

  • 1000 मेगावाट इंदिरासागर परियोजना ट्रासफार्मर यार्ड

  • 520 मेगावाट ओंकारेश्वर परियोजना - विद्युत गृह & ट्रांसफार्मर यार्ड

  • 520 मेगावाट ओंकारेश्वर परियोजना विद्युत गृह का जनेरेटर फ्लोर

श्री अभय कुमार सिंह (57 वर्ष)

श्री अभय कुमार सिंह ने नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, दुर्गापुर (पूर्वनाम रीजनल इंजीनियरिंग कॉलेज, दुर्गापुर) से वर्ष 1983 में सिविल इंजीनियरिंग की डिग्री प्राप्त की ।

श्री सिंह ने वर्ष 1985 में एनएचपीसी के टनकपुर जल विद्युत परियोजना (120 मेगावाट) में परिवीक्षाधीन कार्यपालक के रूप में नियुक्ति के साथ अपने कैरियर की शुरूआत की । इनके अंदर मल्टीटास्क की क्षमता के साथ-साथ लगातार सीखने की प्रवृत्ति के परिणामस्वरूप, इन्होंने प्रारंभिक चरण में ही परियोजना की विभिन्न जिम्मेदारियों को बखूबी उठाया। इन्होंने परियोजना के विभिन्न घटकों जिसमें न केवल सिविल के क्षेत्रों, बल्कि हाइड्रो-मैकेनिकल के कार्य का भी प्रबंधन किया । अपनी रणनीतिक विचारों वाली मानसिकता, तथ्य-आधारित परिणाम उन्मुख निर्णय लेने की क्षमता के साथ, वे न केवल उपलब्ध संसाधनों का समुचित उपयोग करने में सक्षम रहे है बल्कि समय से पूर्व लक्ष्य हासिल करने में भी सक्षम है। अपने 35 वर्षों के पेशेवर जीवन में, इन्होंने अनेक जल विद्युत परियोजनाओं जैसे टनकपुर परियोजना (120 मेगावाट), धौलीगंगा परियोजना (280 मेगावाट), तीस्ता लो डैम चरण IV (160 मेगावाट), पार्बती चरण II (800 मेगावाट), पार्बती चरण III (520 मेगावाट) और किशनगंगा जल विद्युत परियोजना (330 मेगावाट) की स्थापना में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है । इन्होंने इन परियोजनाओं में प्रमुख परियोजना घटकों के निर्माण प्रबंधन से लेकर परियोजना प्रमुख (एचओपी) और क्षेत्रीय प्रभारी की जिम्मेदारियां सफलतापूर्वक निभाई हैं। जल विद्युत विकास में अपने व्यापक अनुभव के कारण, इनके पास जटिल साइट चुनौतियों, जैसे स्थानीय मुद्दों, तकनीकी व व्यवसायिक मुद्दों का प्रबंधन, पुन: संघटन, आदि से निपटने की बेहतरीन क्षमता हैं । भारत में जल विद्युत विकास और जल संसाधन क्षेत्र में इनके योगदान को स्वीकार करते हुए, आरईपीए (रिन्यूएबल एनर्जी प्रमोशन एसोसिएशन) और ईनर्शिया फाउंडेशन ने इन्हें 'हाइड्रो रत्न’ के पुरस्कार से सम्मानित किया है।

वास्‍तविक रूप से एक मजबूत टीम लीडर होने के बावजूद भी, वे स्वामित्व, उत्तरदायित्व क्षमता, ज्ञान, और कंपनी में समान प्रवृति की सोच से टीम की भूमिका में दृढ़तापूर्वक विश्वास करते है। वे जलविद्युत परियोजनाओं के विकास में समर्पित रहे हैं, तथा उसी तरह विद्युत क्षेत्र में उन्नति और अन्य नवीनीकरण सहित विविधीकरण के लिए भी मुखर रहे है। उनका किसी भी परियोजना में तेज़ी लाने और विकास के लिए समय-निर्धारण, निष्पादन, निगरानी और अत्याधुनिक निर्माण उपकरणों/मशीनरी में नई तकनीकों को विकसित करने के प्रति दृढ़ विश्वास रहा है।

वे वर्तमान में लोकतक डाउनस्ट्रीम हाइड्रोइलेक्ट्रिक डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन लिमिटेड में नामित निदेशक के रूप में भी कार्य कर रहे है।

श्री हरीश कुमार (DIN 08294251)

प्रबंध निदेशक, एन एच डी सी लिमिटेड

 

श्री हरीश कुमार (59 वर्ष) थापर इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी, पटियाला (पंजाब) से सिविल इंजीनियरिंग में स्नातक हैं | उन्होंने दिनांक 1 अप्रैल 1985 को एन एच पी सी में प्रशिक्षु कार्यपालक (सिविल) के पद पर सेवा शुरू की | अपने लगभग 36 वर्षों के सेवाकाल के दौरान उन्होंने एन एच पी सी के विकास में निगम कार्यालय के विभिन्न विभागों तथा विभिन्न परियोजनाओं में अपना योगदान दिया | एन एच पी सी के सब्सिडियरी / जॉइंट वेंचर, जैसे चिनाब वैली पॉवर प्रोजेक्ट्स (प्रा.) लिमिटेड तथा बुंदेलखंड सौर उर्जा लिमिटेड में कई चुनौतीपूर्ण कार्यों को निष्पादित करने में भी उनका योगदान रहा | एन एच पी सी की एक अत्यंत चुनौतीपूर्ण उरी-II जलविद्युत् परियोजना(240 MW), जम्मू कश्मीर को कमीशन करने वाली टीम का उन्होंने सफल नेतृत्व किया | उन्हें जलविद्युत परियोजनाओं के प्लानिंग, कॉन्ट्रैक्ट्स तथा निष्पादन का वृहद् अनुभव हैं |

श्री हरीश कुमार दिनांक 01.02.2021 को एन एच डी सी के बोर्ड में शामिल हुए |

निविदा और बोलियां

 

Protection work of High Level Bridge (HLB) Piers (P3 to P8) downstream to Indira Sagar Dam, Narmada Nagar, DIstt. Khandwa (M.P.)

Installation of Road Reflector, Signage board, Road safety mirror etc. at tunnel area of Power House and Jagmurthy Setu of Indira Sagar Power Station, Narmada Nagar, Distt. Khandwa (M.P.)

Procurement of Rod Seal of Wicket Gate and Non Return Valves(NRV) for Thrust Pad & HS System for Generating Units of Omkareshwar Power Station

Annual Maintenance Contract (AMC) for Seismic Instruments Installed at total 11 Nos. of Seismological Observatories of Indira Sagar Power Station, Narmada Nagar, Distt. Khandwa (M.P).

Supply, Installation, Testing and Commissioning of 150 KVAR APFC Panel at Dam Control Room of Omkareshwar Power Station

Supply of various types of Gate Valves, Swing Check Valves (NRV) & Butterfly valves at Indira Sagar Power Station, Narmada Nagar, Dist. Khandwa TSN NO:ISPS/P/MW/2020-21/111

Purchase of Wire rope for 2 Nos. of 200/30T X 20.0 M Span EOT Crane of Mukuand make installed at Power House of Indira Sagar Power Station, Narmada Nagar, Distt. Khandwa (M.P.) TSN NO: ISPS/P/MW/2020-21/126

Post construction Anti-termite treatment of Transit camp, Field Hostel No.1 and Field Hostel No.2 of Omkareshwar Power Station

Annual Maintenance Service Contract of Computers with Peripherals and Networking Equipments installed at Omkareshwar Power Station, Siddhawarkut

Procurement of spares (Make-Technico) for Fire Fighting System installed at Power House of Omkareshwar Power Station, Siddhwarkut, Khandwa (MP).

 

ई-प्रोक्योरमेंट  सभी को देखें >>

chairman

  एनएचपीसी लिमिटेड के अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक, श्री अभय कुमार सिंह ने दिनांक 24.02.2020 को एनएचडीसी लिमिटेड के अध्यक्ष का कार्यभार ग्रहण किया है |

श्री अभय कुमार सिंह
अध्यक्ष, एनएचडीसी लिमिटेड एवं अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक, एनएचपीसी लिमिटेड अधिक पढ़ें >>

chief-executive-director

  श्री हरीश कुमार, वर्तमान में प्रबंध निदेशक के पद पर कार्यरत है

श्री हरीश कुमार
प्रबंध निदेशक अधिक पढ़ें >>

 

पावर स्टेशन

इंदिरा सागर पावर स्टेशन

इंदिरा सागर परियोजना मध्यप्रदेश के खंडवा जिले में पुनासा गांव से 10 किलो मीटर दूर नर्मदा नदी पर एक बहुउद्देशीय परियोजना है,। इस परियोजना की आधारशिला भारत की तत्कालीन प्रधानमंत्री स्वर्गाीय श्रीमति इंदिरा गांधी दृारा दिनांक 23.10.1984 को रखी गई । जिसकी सस्ंथापित विद्युत क्षमता 1000 मेगावाट है तथा इससे 2698.00 मिलियन यूनिट विद्युत का वार्षिक उत्पादन का लक्ष्य रखा गया है।

अधिक पढ़ें

 

पावर स्टेशन

ओंकारेश्वर पावर स्टेशन

ओंकारेश्वर पावर स्टेशन एक बहुउद्देशीय परियोजना है, जो विद्युत उत्पादन के साथ मध्यप्रदेश के खंडवा, खरगोन और धार जिलों में नर्मदा नदी के दोनों तटों पर सिंचाई सुविधा उपलब्ध करेगी। यह इंदौर से 80 किलो मीटर की दूरी पर है और इंदिरा सागर परियोजना से 40 किलो मीटर डाउन स्ट्रीम (निम्न जल प्रवाह) में स्थित है।

अधिक पढ़ें

  • Application Development and Maintenance by Cyfuture